BEKHAYALI LYRICS – Kabir Singh

Bekhayali lyrics – Kabir Singh 

🎬 🎧 Credits: The song Bekhayali from the movie Kabir Singh was sung by Sachet Tandon, Lyrics by Irshad Kamil, Music Produced By  Kalyan Baruah and Sachet- Parampara, Music Director – Sachet-Parampara, Starting Shahid Kapoor, Kiara Advani  one of the best love story of  2019 Release on 21 June 2019

Bekhayali Lyrics in English

“🎧 Bekhayali lyrics in English”

Bekhayali mein bhi tera
Hi khayal aaye
Kyun bicharna hai jaroori
Ye sawaal aaye

Teri nazdeekiyon ki khushi
Behisaab thi
Hisse mein faashle bhi tere
Bemishaal aaye

Main jo tumse door hoon
Kyun door main rahoon
Tera guroor hoon
Aa tu faashla mita
Tu khwab sa mila
Kyun khwab todd doon

Bekhayali mein bhi tera
Hi khayal aaye
Kyun bicharna hai jaroori
Ye sawaal aaye

Thoda sa main khafa ho gaya
Aapne aap se
Thoda tujhpe bhi bewajah
Hi malaal aaye

Hai ye tadpan
Hai ye uljhan
Kaise jee loon bina tere
Meri aab sabse aanban bante
Kyun ye khuda mere
(Hmm..)

Ye jo log baag hai
Jungle ki aag hai
Kyun aag mein jaloon
Ye nakaam pyaar mein
Khush hai ye haar mein

In jaisa kyun banoon

Raatein dengi bata
Neendon mein teri hi baat hai
Bhooun kaise tujhe
Tu toh khayalon mein saath hai

Bekhayali mein bhi tera
Hi khayal aaye
Kyun bicharna hai jaroori
Ye sawaal aaye

Nazar ke aage har ek manzar
Reet ki taraha bikhar raha hai
Dard tumhaara badan mein mere
Zehar ki tarah utar raha hai

Nazar ke aage har ek manzar
Reet ki taraha bikhar raha hai
Dard tumhaara badan mein mere
Zehar ki tarah utar raha hai

Aa jamaane aajma le rooth’ta nahi
Faaslo se haushla ye toot’ta nahi
Na hai wo bewafa aur na main hoon bewafa
Wo meri aadatonki tarah chhothta nahi

🎧 Bekhayali lyrics in Hindi “

हम्म..
बेखयाली में भी
तेरा ही ख्याल आये
क्यूँ बिछड़ना है ज़रूरी
ये सवाल आये

तेरी नजदीकियों की
ख़ुशी बेहिसाब थी
हिस्से में फासले भी
तेरे बेमिसाल आये

मैं जो तुमसे दूर हूँ
क्यूँ दूर मैं रहूँ
तेरा गुरुर हूँ..
हिन्दीट्रैक्स
आ तू फासला मिटा
तू ख्वाब सा मिला
क्यूँ ख्वाब तोड़ दूं

ऊँ..

बेखयाली में भी
तेरा ही ख्याल आये
क्यूँ जुदाई दे गया तू
ये सवाल आये

थोड़ा सा मैं खफा हो
गया अपने आप से
थोड़ा सा तुझपे भी
बेवजह ही मलाल आये

है ये तड़पन, है ये उलझन
कैसे जी लूँ बिना तेरे
मेरी अब सब से है अनबन
बनते क्यूँ ये ख़ुदा मेरे
हम्म..

ये जो लोग बाग हैं
जंगल की आग हैं
क्यूँ आग में जलूं..
ये नाकाम प्यार में
खुश हैं ये हार में
इन जैसा क्यूँ बनूँ

ऊँ..

रातें देंगी बता
नीदों में तेरी ही बात है
भूलूं कैसे तुझे
तू तो ख्यालों में साथ है

बेखयाली में भी
तेरा ही ख्याल आये
क्यूँ बिछड़ना है ज़रूरी
ये सवाल आये

ऊँ..

नज़र के आगे हर एक मंजर
रेत की तरह बिखर रहा है
दर्द तुम्हारा बदन में मेरे
ज़हर की तरह उतर रहा है

नज़र के आगे हर एक मंजर
रेत की तरह बिखर रहा है
दर्द तुम्हारा बदन में मेरे
ज़हर की तरह उतर रहा है

आ ज़माने आजमा ले रुठता नहीं
फासलों से हौसला ये टूटता नहीं
ना है वो बेवफा और ना मैं हूँ बेवफा
वो मेरी आदतों की तरह छुटता नहीं

“This is the end of  Song Bekhayali Lyrics. If you find any mistakes, then let us known by filling the contact us form with correct Lyrics.”

Watch video song of Bekhayali song Lyrics 

Quick Links:

More Punjabi song lyrics

More Hindi song Lyrics 

Assamese song lyrics

Assamese Bihu Song lyrics

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *